Home / Bollywood / शमशान घाट में जलती चिता के सामने घंटों बैठे रहते थे अभिनेता विक्की कौशल, सामने आई ये बड़ी वजह

शमशान घाट में जलती चिता के सामने घंटों बैठे रहते थे अभिनेता विक्की कौशल, सामने आई ये बड़ी वजह

हिंदी फिल्मों में काम करना बच्चों के बस की बात नहीं है. यहां फिल्म की स्टोरी के अनुसार खुद को उसके किरदार में ढालना पड़ता है. ऐसे में कई बार स्टोरी के हिसाब से स्टारकास्ट को कुछ ऐसे काम भी करने पड़ते हैं जो उन्होंने लाइफ में पहले कभी नहीं किए होते हैं. हालांकि इन अभिनेताओं और अभिनेत्रियों को एक समय में इनकी मेहनत और संघर्ष का फल भी मिल जाता है. यदि कोई एक्टर फिल्म में अच्छा काम करता है तो पर्दे पर उसकी फ़िल्म रिलीज के दौरान दर्शकों की तालियां बज उठती हैं. बॉलीवुड में बहुत कम ऐसे अभिनेता और अभिनेत्रियां हैं जो अपने टैलेंट के चलते कामयाब हो पाए हैं. उन्हीं में से एक है ‘उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक’ के अभिनेता विक्की कौशल. साल 2018 में आई है फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुई थी और इसने रातों-रात विक्की को स्टार बना दिया था.

आज के इस खास लेख में हम आपको विकी कौशल से जुड़ी एक ऐसी घटना बताने जा रहे हैं जिनसे शायद आप पहले से वाकिफ नहीं होंगे. दरअसल यह बात उस समय की है जब विकी कौशल ‘मसान’ फिल्म के लिए काम कर रहे थे. यह फिल्म साल 2015 में रिलीज की गई थी जिसमें विक्की ने क्या हम भूमिका निभाई थी. इसके अलावा विक्की कौशल की बतौर लीड एक्टर के यह पहली फिल्म थी. हालांकि इससे पहले भी वह कई फिल्मों में छोटे-मोटे रोल करते हुए दिखाई दिए थे लेकिन ‘ मसान’ में लीड एक्टर के तौर पर डेब्यू करके विक्की की एक्टिंग की खूब तारीख से की गई थी.

बताते चलें कि इस फिल्म में काम करने के दौरान उन्हें अपने करैक्टर में पूर्ण रूप से उतरना था ऐसे में वह बनारस के एक श्मशान घाट में जलती चिता के सामने घंटों बैठे रहते थे. इसके पीछे का कारण यह था कि विक्की अपनी एक्टिंग को बेहतरीन ढंग से पर्दे पर उतारना चाहते थे ऐसे में वह कई कई दिनों तक मुर्दों का सामना करते थे. इस बीच विकी कौशल ने अपनी आंखों से कई बार जलती हुई चिता देखी और उनकी देखभाल भी की. फ़िल्म के एक सीन की शूटिंग वाराणसी में गंगा नदी के तट पर की गई थी. मणिकर्णिका घाट पर शूट हुए इस सीन के चलते विकी कौशल को दिन-रात मुर्दों के साथ बिताना पड़ता था. आखिरकार उनकी मेहनत रंग लाई और साल 2015 में उन्हें कॉन्स फिल्म फेस्टिवल में अवार्ड भी दिया गया था.

खबरों की मानें तो विक्की के अलावा उनके पिता का किरदार निभाने वाले अभिनेता विनीत को भी उनके साथ श्मशान घाट में जलती चिताओं को देखना पड़ता था. शूटिंग लगभग 1 सप्ताह तक मणिकर्णिका घाट पर हुई थी जिसमें रोज ना जाने कितनी ही चिताएं जलाई जाती थी. ऐसे में 10-10 घंटे तक विक्की और विनीत उस घाट पर ही मौजूद रहते थे. बता दें कि फिल्म ‘मसान’ में विक्की के अलावा विनीत ने डोम राजा का किरदार प्ले किया था. डोम राजा होते हैं जो कि मुर्दों को जलाते हैं.

दोनों ही एक्टर्स की दमदार एक्टिंग को आज भी साराहा जाता है. इसी फिल्म के बाद से विक्की कौशल बॉलीवुड का उभरता चेहरा बन कर सामने आए थे जिसके बाद उन्हें ‘उरी’ जैसी बड़ी फिल्म में काम दिया गया था.

About kirti

Check Also

आर्यन की गिरफ्तारी के बाद शाहरुख को तसल्ली देने सलमान खान पहुंचे मन्नत, NCB ने मुंबई की कई जगहों पर की छापेमारी

मुंबई से गोवा जा रहे क्रूज पर रेव पार्टी में करते पकड़े गए सुपरस्टार शाहरुख …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *