Home / Religious / नागपंचमी पर क्या बनता है, किन चीजों का है वर्जित

नागपंचमी पर क्या बनता है, किन चीजों का है वर्जित

आज यानी 5 अगस्त नागपंचमी का दिन है. इस दिन नागों को दूध से स्नान कराकर भगवान शिव के आभूषणों की पूजा की जाती है। सबसे पहले भगवान शिव का अभिषेक किया जाता है और उन्हें जल अर्पित किया जाता है, फिर नागों को हल्दी, रोली, चावल और फूल चढ़ाए जाते हैं, चना, खील बतासे और नागों को कच्चा दूध चढ़ाया जाता है। ऐसा करने से सांप का भय नहीं रहता है।

हालांकि खाने में सबके नियम अलग-अलग होते हैं। राजस्थान में जहां पारंपरिक पकवान में दाल बाटी बनाई जाती है, वहीं उत्तर प्रदेश, बिहार में मालपुआ का चलन है. जबकि खीर पूरी मध्य प्रदेश और भारत में बनाई जाती है। वहीं कई जगह चावल न बनाने की मान्यता है. कई परिवार इस दिन चूल्हा नहीं जलाते, बासी खाना खाते हैं। इसके लिए एक दिन पहले शाम को भोजन और भोग तैयार किया जाता है।

आमतौर पर नागदेव के दर्शन नहीं होते हैं, इसलिए इस दिन लोग घरों के दरवाजों के दोनों ओर दीवार पर सांप के चित्र बनाकर पूजा करते हैं। गांवों में भी घर की दीवार गेरू से ढकी रहती है। बहुत से लोग दरवाजे की दीवार के साथ-साथ रसोई के दरवाजे के चारों ओर की दीवार के साथ-साथ नाग देव के भित्ति चित्र बनाते हैं।

इसमें गाय के गोबर और काजल से एक चौकोर बॉक्स बनाएं। इस बॉक्स के अंदर एक छोटे से सांप की आकृति बनाई गई है। कुमकुम, हल्दी, चावल, फूल और फिर दूध चढ़ाकर इन आकृतियों की पूजा की जाती है।

About Govind Dhami

Check Also

भारत के ऐसे चमत्कारी मंदिर जिनके रहस्य के आगे विज्ञान ने भी टेके अपने घुटने

भारत धर्म, भक्ति, अध्यात्म और साधना का देश है, जहां प्राचीन काल से ही मंदिरों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *