Home / Motivational stories / पिता नहीं बन पाया IAS तो बेटी ने पूरा किया पिता का सपना, ख़ूब मेहनत कर बनीं IAS ऑफिसर

पिता नहीं बन पाया IAS तो बेटी ने पूरा किया पिता का सपना, ख़ूब मेहनत कर बनीं IAS ऑफिसर

किसी ने ठीक ही कहा है कि “एक पिता को बेटियों पर गर्व होता है”…हम हर दिन ऐसी खबरें सुनते रहते हैं, जिसमें देश की प्रतिभाशाली बेटियों ने न केवल अपने परिवार बल्कि पूरे देश का नाम रौशन किया है। इसी कारण बेटियों को पिता का गौरव कहा जाता है, क्योंकि वे उनकी भावनाओं को समझती हैं और उन सपनों को पूरा करती हैं जो उनकी आंखों ने देखे हैं।

ऐसी ही एक देश की बेटी हैं साक्षी, जिन्होंने खूब पढ़ाई की और आईएएस अफसर बनकर अपने पिता के सपने को साकार किया।

साक्षी शुरू से ही पढ़ाई में होशियार थी
उत्तर प्रदेश के रॉबर्टगंज की रहने वाली साक्षी साल 2018 बैच में आईएएस बनी थी। अपने बारे में बताते हुए वह कहती हैं कि वह शुरू से ही पढ़ाई में होशियार रही हैं। उन्होंने स्नातक तक रॉबर्ट्सगंज में रहकर अपनी शिक्षा प्राप्त की। साक्षी पढ़ाई में बहुत अच्छी थी, उसे 10वीं की परीक्षा में 76 प्रतिशत और 12वीं में 81.4 प्रतिशत अंक मिले थे। फिर उन्होंने सरकारी महिला कॉलेज से बीए पूरा किया।

12वीं के बाद तय कर लिया था, UPSC एग्जाम देना है
12वीं की परीक्षा देने के बाद साक्षी ने तय किया था कि उन्हें यूपीएससी की तैयारी करनी है। फिर वह अच्छे अंकों के साथ पास हुई, फिर उसका दृढ़ संकल्प और दृढ़ हो गया, लेकिन उस समय रॉबर्ट्सगंज में किसी प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी के लिए उचित साधन उपलब्ध नहीं थे, इसलिए साक्षी ने फैसला किया कि वह स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद ही करेगी। यूपीएससी की तैयारी शुरू करें।

आखिरकार अपने पिता के सपने को पूरा किया
साक्षी का कहना है कि ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद उन्होंने तय किया कि वह दिल्ली जाकर यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करेंगी। जब उसने अपने पिता को इस बारे में बताया कि वह पढ़ने के लिए दिल्ली जाती है और यूपीएससी परीक्षा देखकर आईएएस अधिकारी बनना चाहती है, तो उसके पिता बहुत खुश होते हैं क्योंकि उन्होंने खुद एक आईएएस अधिकारी बनने का सपना देखा था। साक्षी के पिता ने उनका बहुत साथ दिया।

उनके पिता का नाम कृष्ण कुमार गर्ग है और वे एक व्यवसायी हैं। उनकी मां रेणु गर्ग गृहिणी हैं। साक्षी का कहना है कि उनके पिता आईएएस बनना चाहते थे, लेकिन किन्हीं कारणों से उनकी यह इच्छा पूरी नहीं हो सकी। इसलिए उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा देने के लिए साक्षी को हमेशा मानसिक रूप से तैयार किया और उनका भरपूर साथ दिया।

साक्षी के पिता बताते हैं कि उन्हें बहुत खुशी है कि उनकी बेटी आईएएस ऑफिसर बन गई है क्योंकि जो सपना उनका था, वह अधूरा सपना उनकी बेटी ने साकार किया है। देश की इस बेटी पर हम सभी को गर्व है।

About Govind Dhami

Check Also

कपिल शर्मा की पत्नी से ज्यादा खूबसूरत है चंदू चायवाले की पत्नी, इंटरनेट पर तस्वीरें लगा रही आग

देश में लॉकडाउन हटने के बाद एक बार फिर द कपिल शर्मा शो शुरू हो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *