Home / Viral News / दहेज की मांग पूरी न करने पर दुल्हन के हाथों की मेहंदी हुई बैरंग

दहेज की मांग पूरी न करने पर दुल्हन के हाथों की मेहंदी हुई बैरंग

दुल्हन पक्ष में बाइक का इंतजाम नहीं हो सका तो रविवार को बारात लेकर दूल्हा नहीं पहुंचा।
उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में दहेज नहीं मिलने पर बारात लेकर जब दूल्हा नहीं पहुंचा तो दुल्हन पक्ष मायूस हो गया. दहेज के लालची के घर से बारात तक नहीं पहुंचने पर दुल्हन के हाथों की मेहंदी का रंग फीका पड़ गया। दुल्हन पक्ष ने दहेज की मांग पूरी नहीं करने पर दूल्हे और उसके परिवार पर बारात में शामिल नहीं होने का आरोप लगाते हुए न्याय की गुहार लगाई है. आरोप है कि दूल्हे पक्ष के लोगों ने अचानक उससे दहेज में बाइक व अन्य सामान की मांग की. दुल्हन पक्ष में बाइक का इंतजाम नहीं हो सका तो रविवार को बारात लेकर दूल्हा नहीं पहुंचा।

दुल्हन के परिजन इंसाफ की गुहार लगा रहे हैं
दूल्हे पक्ष के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर दुल्हन व उसके परिजन हापुड़ से बुलंदशहर तक थानों में न्याय के लिए चक्कर लगाने को मजबूर हैं. लेकिन पुलिस प्राथमिकी भी दर्ज नहीं कर रही है।

कोर्ट मैरिज के बाद कानून से होनी थी शादी
हापुड़ के हरिद्वारी नगर निवासी प्रिया की शादी दरबार के माध्यम से बुलंदशहर निवासी देवराज से हुई थी. एक महीने तक साथ रहने के बाद दोनों रिश्तेदारों के कहने पर हिंदू धर्म के रीति-रिवाजों से शादी के लिए राजी हो गए। जिसके बाद लकड़ी उनके घर आ गई थी।

दहेज की मांग को पूरा नहीं कर पा रहा परिवार
दुल्हन की मां ने बताया कि दोनों की शादी 18 जुलाई 2021 को होनी थी. जिससे उन्होंने शादी की सारी तैयारियां पूरी कर ली थीं. दुल्हन ने पिया के नाम पर हाथों में मेहंदी भी बना ली थी। लेकिन बारात लेकर दूल्हा नहीं पहुंचा और दुल्हन की सारी ख्वाहिशें बर्बाद हो गईं. आरोप है कि अचानक दूल्हे और उसके परिवार ने बारात लाने से इनकार कर दिया. दुल्हन पक्ष अचानक की गई दहेज की मांग को पूरा नहीं कर पा रहा है।

दुल्हन के सिर से पहले ही पिता का साया उठ चुका है
पिता न होने के कारण परिवार को पालने की जिम्मेदारी मां पर थी। मां किसी तरह मेहनत कर अपने बच्चों का पालन-पोषण कर रही थी। गरीब मां ने अपनी बेटी की शादी बुलंदशहर निवासी देवराज से तय कर दी। उसे क्या पता था कि वह शादी के दिन दहेज के लिए लालच में आकर दहेज की मांग करेगा। और अगर मांग पूरी नहीं हुई तो वह बारात लेकर नहीं पहुंचेंगे। हालांकि अब दुल्हन के परिजन दहेज के लालची को सबक सिखाने के लिए मुकदमा दर्ज कराने की मांग कर रहे हैं. रहना।

About Govind Dhami

Check Also

इस माँ ने अपनी ममता को किया दागदार, महज़ 1500 रुपयों के लिए दूधमुंही बच्ची का कर डाला सौदा

कहते हैं एक माँ का उसकी औलाद से सबसे अधिक स्नेह होता है. माँ की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *