Home / TRENDING NEWS / ‘मुझे माफ़ करना मम्मी मैं GAME में 40 हजार हार गया, रोना मत’ इतना कहकर 13 साल के मासूम ने छोड़ दी दुनिया

‘मुझे माफ़ करना मम्मी मैं GAME में 40 हजार हार गया, रोना मत’ इतना कहकर 13 साल के मासूम ने छोड़ दी दुनिया

मॉडरन युग में विज्ञान ने बेहद उन्नति कर ली है. कुछ लोगों के लिए अगर तकनीक वरदान बनकर साबित हुई है तो वहीं अन्य लोगों के लिए अभिशाप भी बन चुकी है. जैसा कि हम सब जानते ही हैं कि कोरोना काल में मोबाइल ऑनलाइन शिक्षा के लिए एक वरदान साबित हुआ है. पूरे भारत देश के विद्यार्थियों को ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा दी जा रही थी. ऐसे में जिन बच्चों के हाथ में मोबाइल आ गया वह उनके लिए एक लत बनकर साबित हुआ. बहुत से स्टूडेंट्स अपने माता-पिता से मोबाइल ऑनलाइन क्लास के लिए ले लेते हैं लेकिन वह असल में उनका उपयोग वीडियो देखने या फिर गेम्स खेलने के लिए करते हैं. मोबाइल का दुरुपयोग होने से इसका नुकसान भी कई लोगों को उठाना पड़ता है. हालांकि ऑनलाइन गेमिंग मनोरंजन का सबसे अच्छा साधन बन चुका है परंतु बहुत से बच्चों के लिए यह साधन अब एक बुरी लत भी बन गया है.

ऐसा ही एक मामला हाल ही में देखने को मिला जहां ऑनलाइन गेम खेलने की लत ने एक मासूम की जान ले ली. बता दें कि एक सर्वे के दौरान यह पाया गया है कि अधिकतर बच्चे रात में नींद लेने की बजाए गेम खेलने में लगे रहते हैं जिससे उनकी मानव शैली खास टॉपर पर उनके मस्तिष्क पर काफी बुरा प्रभाव पड़ रहा है. कई बार ऑनलाइन वीडियो देखने और गेम खेलने के कारण कुछ बच्चों के मस्तिष्क पर ऐसा असर पड़ता है कि वह बेहद चिड़चिडे भी हो जाते हैं और उन्हें मोबाइल के बिना जीना मुश्किल लगने लग जाता है. हालांकि अधिकतर पेरेंट्स अपने बच्चों की समस्या का शुरुआत में ध्यान नहीं रखते हैं लेकिन जब तक उन्हें बच्चों के बिगड़े हुए शेड्यूल के बारे में पता चलता है तब तक समस्या काफी बढ़ चुकी होती है.

बीते दिनों ऐसे ही एक घटना जिले के सागर रोड स्थित कॉलोनी में देखने को मिली. यहां के रहने वाले विवेक पांडे अपने पत्नी प्रीति और बेटे कृष्णा और बेटी के साथ हंसी-खुशी रहते आए थे. लेकिन अचानक से उनकी खुशियों को ऐसी नजर रखी कि उनके साथ कुछ ऐसा हुआ जिसकी कल्पना उन्होंने सपने में भी नहीं की थी. इस बात का खुलासा उस समय हुआ जब मां को मोबाइल पर खाते से 1500 रुपये कटने का मैसेज आया. ऐसे में जब उन्होंने फोन पर बेटी प्रीति से वजह पूछी तो डर के मारे भाई कृष्णा ने बताया कि यह पैसे ऑनलाइन गेमिंग की वजह से कटे हैं जिसके बाद कृष्णा को अपनी मां से काफी डांट भी सुननी पड़ी.

मामला यहीं नहीं रुका जब मां से बात करने के बाद कृष्णा ने फोन रखा तो वह चुपचाप से अपने कमरे में चला गया और दरवाजा अंदर से बंद कर दिया. उस समय कृष्णा के इलावा घर पर उसकी बहन प्रीति ही थी. जब काफी देर तक कृष्णा बाहर नहीं आया तो बहन ने दरवाजा खटखटाया. दरवाजा लॉक होने पर उसने तुरंत अपने मम्मी पापा को फोन करके इस बात के बारे में बताया. जानकारी मिलते ही दोनों माता-पिता तुरंत घर पहुंच गए और जब उन्होंने दरवाजा तोड़ा तो अंदर कृष्णा फंदे पर लटका पाया गया. यह जानकारी के अनुसार कृष्णा ने जाने से पहले एक आखरी नोट भी लिखा था जिसमें उसने फ्री फायर गेम के चक्कर में गवाए 40 हज़ार का जिक्र किया था. इस आखिरी लेटर में उसने लिखा था, “आई एम सॉरी मां… प्लीज आप रोना मत मैंने गेम में 40 हज़ार रुपये गंवा दिए हैं.” वही बच्चे के जाने से मां का रो- रो कर बुरा हाल है. यह घटना उन सभी मां बाप को सीख देती है जो अपने बच्चों को अपनी निगरानी में मोबाइल का इस्तेमाल नहीं करने देते. ऐसे में उन पेरेंट्स को सतर्कता की आवश्यकता है ताकि उनके बच्चे उनकी नजर के सामने रहे और मोबाइल का सदुपयोग करें.

About kirti

Check Also

थोड़ी सी लापरवाही से ऑप्स मोमेंट का शिकार हुईं आलिया भट्ट, ड्रेस फिसली और

आलिया भट्ट को जानते हुए हम सभी जानते हैं कि वह न केवल बॉलीवुड की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *