Home / TRENDING NEWS / पति ने तलाक दिया तो महिला ने 14 बच्चे पैदा कर दिए , पेट टंकी जैसा फूल गया था, देखिए तस्वीरें !

पति ने तलाक दिया तो महिला ने 14 बच्चे पैदा कर दिए , पेट टंकी जैसा फूल गया था, देखिए तस्वीरें !

इस दुनिया में किसी भी महिला के लिए सबसे सुखद अनुभव मां बनना होता है। मां बनने का सपना हर महिला का सपना होता है। लगभग हर महिला इस भावना का अनुभव करना चाहती है। लेकिन आज हम आपको एक ऐसी महिला के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में सुनकर आप भी हैरान और दंग रह जाएंगे, क्यों न दंग रह जाएं क्योंकि इस महिला ने भी कुछ ऐसा ही किया है. इस महिला ने एक साथ अपने 8 बच्चों को जन्म दिया। गर्भाशय में इतने बच्चे होने के कारण इस महिला का पेट गुब्बारे जैसा हो गया था।

महिला को आईवीएफ तकनीक के जरिए ऐसा करने दें। डॉक्टर ने महिला के गर्भाशय में एक साथ 12 बच्चों के भ्रूण रखे थे। इन 12 में से केवल 8 जीवित पैदा हुए थे। यह घटना साल 2009 की है। अब ये बच्चे 12 साल के हो गए हैं। इस महिला ने अपने 12वें जन्मदिन पर इन बच्चों की कुछ तस्वीरें शेयर की हैं।

शायद आप नहीं जानते होंगे कि यह महिला संयुक्त राज्य अमेरिका की रहने वाली है। 45 साल की इस महिला का नाम नदया सुलेमान है। इन बच्चों के जन्मदिन पर नाद्या सुलेमान ने सोशल मीडिया पर मां बनने का अपना अनुभव साझा किया है.

उन्होंने बताया है कि एक बार में 8 बच्चों को गर्भ में पलना और फिर उन बच्चों का पालन-पोषण और पालन-पोषण करना कितना शानदार और अलग अनुभव होता है।

आपको जानकर हैरानी होगी कि नाद्या इन 8 बच्चों को जन्म देकर उनके मां बनने से पहले ही 6 बच्चों की मां बन चुकी थीं। नाद्या के कुल 14 बच्चे हैं। आपको बता दें कि नाद्या का अपने पति से तलाक हो चुका है। तलाक के बाद उन्होंने एलुमनाई से आईवीएफ के जरिए बच्चों को जन्म दिया। और अब उनकी देखभाल कर रहे हैं। मैं यह भी बता दूं कि मैं माइकल कमरबा हूं जिसने इस महिला के गर्भ में एक साथ 12 भ्रूण रखे थे, उसका लाइसेंस रद्द कर दिया गया है।

नियमों के मुताबिक कोई भी डॉक्टर आईवीएफ वाली महिला के गर्भाशय में एक साथ तीन से ज्यादा भ्रूण नहीं लगा सकता है। वही डॉक्टर का कहना है कि उन्हें बच्चों की मां यानी नाद्या ने अपने गर्भ में 12 भ्रूण लगाने को कहा था. वहीं नाद्या का कहना है कि डॉक्टर ने बड़ी चतुराई से उसे बेवकूफ बनाया और इस तरह उसके गर्भाशय में 12 भ्रूण एक साथ रख दिए.

नदया सुलेमान की गर्भावस्था और प्रसव को 46 डॉक्टरों और नर्सों की एक टीम ने संभाला। यह डिलीवरी बहुत अधिक कठिन थी। डिलीवरी सिर्फ 31 हफ्तों में हुई थी। इस दौरान नाद्या के केवल 8 बच्चे जीवित पैदा हुए। आज नाद्या के बच्चे बड़े हो गए हैं और अपनी मां का पूरा साथ देते हैं।

नदया सुलेमान अपने 14 बच्चों की बहुत अच्छी तरह से देखभाल कर रही हैं। वह बताती हैं कि उनका पूरा दिन 14 बच्चों के लिए खाना बनाने में निकल जाता है। नाद्या के 14 बच्चों में से 13 शाकाहारी हैं।

नदया सुलेमान बच्चों की परवरिश के लिए बहुत मेहनत करती हैं और सभी को खुश रखने की कोशिश करती हैं।

About Govind Dhami

Check Also

शमशान घाट में जलती चिता के सामने घंटों बैठे रहते थे अभिनेता विक्की कौशल, सामने आई ये बड़ी वजह

हिंदी फिल्मों में काम करना बच्चों के बस की बात नहीं है. यहां फिल्म की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *