Home / Indian lifestyle / जिस थाने में पिता था ASI उसी थाने में बेटी बनी DSP, जब थानें पहुंची तो पिता ने किया सैल्यूट कहा बेटी ने सिर गर्व से ऊंचा कर दिया

जिस थाने में पिता था ASI उसी थाने में बेटी बनी DSP, जब थानें पहुंची तो पिता ने किया सैल्यूट कहा बेटी ने सिर गर्व से ऊंचा कर दिया

माता-पिता का हमेशा से सपना होता है कि उनके बच्चे आगे बढ़ें और हर सफलता हासिल करें। जब वे अपने बच्चों की प्रगति देखते हैं तो माता-पिता से ज्यादा खुश कोई नहीं हो सकता। बच्चे के जन्म के बाद से ही माता-पिता हर पल बस यही सपना बुनते रहते हैं कि कैसे वे अपने बच्चे को जीवन के हर पथ में सफल बना सकते हैं। ऐसे में अगर कोई सफलता की राह में अपने माता-पिता से दो कदम आगे चल जाए तो माता-पिता का सिर गर्व से ऊंचा हो जाता है। सफलता की एक ऐसी ही मिसाल लेते हुए आज हम इस पोस्ट के जरिए आपके सामने आए हैं। आज की इस पोस्ट में हम बात करने जा रहे हैं एक ऐसे आईएएस अफसर की जो अपने ही एसआई पिता के थाने में डीएसपी बनकर आए। आज के इस पोस्ट में हम बात कर रहे हैं डीएसपी शबेरा अंसारी की।

पिता ने ड्यूटी पर बेटी को किया सलाम
शाबेरा अंसारी का जन्म उत्तर प्रदेश राज्य के बलिया जिले में हुआ था, उनके पिता का नाम अशरफ अंसारी है, जो मध्य प्रदेश के इंदौर जिले के लसूदिया थाने में एएसआई के पद पर तैनात हैं। सबसे खास बात यह है कि अब उनकी बेटी शबेरा को मझौली थाने में डीएसपी के पद पर तैनात किया गया है। लॉकडाउन में कुछ ऐसा हुआ कि सुबह के पिता अशरफ अंसारी को भी मझौली थाने में ड्यूटी करनी पड़ी. एसआई पिता को अपनी डीएसपी बेटी के अधीन काम करना पड़ता है। ड्यूटी पर पिता अपनी बेटी को सलाम करते हैं।

वही घर में अपनी बेटी के हाथों का बना खाना खाता है। और इस तरह दोनों अपने धर्म और कर्म में संतुलन बना रहे हैं। जानकारी के लिए बता दें कि सवेरा की पोस्टिंग सबसे पहले मध्य प्रदेश में बतौर एसआई के तौर पर हुई थी. बाद में वर्ष 2018 में उसने पीसीएस परीक्षा उत्तीर्ण की और डीएसपी बन गई। अपनी बेटी को अपने से ऊंचे पद पर देखकर अशरफ का सीना गर्व से फूल जाता है।

About Govind Dhami

Check Also

घर वालों को भी विश्वास नहीं था, लक्ष्य सिंघल ने हासिल की 38 रैंक और बन गए IAS अधिकारी

घर वालों को भी विश्वास नहीं था, लक्ष्य सिंघल ने हासिल की 38 रैंक और …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *